Select Page

2019 में भारतीय डेंटल एसोसिएशन पश्चिम दिल्ली शाखा के अध्यक्ष रहे, 5 वर्ष के लिए मनोनीत किये गये

• 1988 में सशस्त्र बल में नियुक्ति के दौरान जम्मू में सेक्टर, पुंछ, राजौरी और नौशेरा जैसे विभिन्न फील्ड गठन में काम किया और इंफेंट्री के साथ नियंत्रण रेखा पर ऑपरेशनों में भाग लिया

• वरिष्ठ सलाहकार के रूप में भारतीय सशस्त्र बल पीरियडोंटिक्स में और सेना मुख्यालय में निदेशक के रूप में अपनी सेवाएं दी

नई दिल्ली: स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने डेंटिस्ट कर्नल डॉ सरोज कुमार ओझा को डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया में नामित किया है। भारत सरकार द्वारा जारी राजपत्र नोटिफिकेशन में कहा गया है कि ‘अधिसूचना संख्या स.ओ. 1675 (ई) दिनांक 28 मई, 2020 दंत चिकित्सक अधिनियम, 1948 की धारा 3 (एफ) के तहत सदस्यों को डीसीआई में मनोनीत किया जाता है’। ₹ नामित सदस्यों को ऊपर बताई गई तारीख से पांच साल तक या उसके ऊपर या जब तक पद रहेगा उनके उत्तराधिकारियों को विधिवत नामित किया जाता है।

विगत वर्षों में डॉ ओझा ने उल्लेखनीय कार्य किया है, जहां उन्हें पेशेवर बीडीएस परीक्षा में द् गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया और 2008 में उप-सेना प्रमुख का पुरस्कार दिया गया। उन्हें 1983 में सशस्त्र बल में नियुक्त किया गया जहां उन्होने विभिन्न क्षेत्र गठन में काम किया गया। पुंछ, राजौरी और नौशेरा सेक्टर मे इंफेंट्री के साथ नियंत्रण रेखा पर 1988 ऑपरेशन में भाग लिया। डॉ ओझा ने 1991 में राजस्थान बार्डर में सैन्य अभ्यास, ओपी पराक्रम और ओपी रक्षक में भाग लिया।

वह भारतीय सशस्त्र बल पेरियोडॉन्टिक्स में वरिष्ठ सलाहकार के रुप मे अपनी सेवा देने के बाद 2006 में सेना मुख्यालय, नई दिल्ली में निदेशक के रूप में नियुक्त किए गए। 1998 में सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज पुणे में पीरियोडॉन्टिक्स के प्रोफेसर भी रह चुके।

भारत सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा, “मुझे डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया में नामित किए जाने की खुशी है। यह एक जिम्मेदारी है जिसे मुझे पूरी ईमानदारी और प्रतिबद्धता के साथ पूरा करना है। मेरा उद्देश्य भारत में दंत चिकित्सा को विश्व स्तरीय बनाना है।